केंद्र एलजी की बात मानेंगे केजरीवाल

NEWS

केंद्र एलजी की बात मानेंगे केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार ने कहा कि दिल्ली में बाहरी लोगों को इलाज करने पर केंद्र सरकार और उपराज्यपाल के फैसले का सरकार पूरी ईमानदारी से पालन करेगी। उन्होंने कहा यह समय एकजुट होकर लड़ने का है, आपस में राजनीति करने का नहीं एलजी ने कैबिनेट के उस फैसले को पलट दिया था. जिसमें दिल्ली के अस्पतालों में सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज करने का निर्णय लिया गया था।

मुख्यमंत्री ने मीडिया से बातचीत में कि एलजी के आदेश के बाद राजधानी में अब 15 जुलाई तक 65000 और 31 जुलाई तक 1.5 लाख बेड की जरूरत पड़ेगी। यह एक बड़ी चुनौती है मगर इसे पूरा करने के लिए मैं खुद जमीन पर उतरूंगा

सभी को इलाज मिले उन्होंने कहा समान दिनों में अस्पतालों में 50 फ़ीसदी मरीज बाहर के होते हैं अभी हमारा आकलन सिर्फ दिल्ली के रोना मरीजों को लेकर है उसके लिहाज से हमें 21 जुलाई तक 80000 बेड की जरूरत है। यदि इसमें बाहरी मरीज को जोड़ ले तो हमें अब तक 1 . 5 लाख बेड की जरूरत पड़ेगी। मैं कोशिश करूंगा कि सभी को इलाज मिले।

 

पड़ोसी राज्य भी व्यवस्था करें

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि पड़ोसी राज्यों से भी अपील है कि वह अपने यहां मरीजों के लिए समुचित स्तरों की व्यवस्था करें ताकि कम से कम लोगों को दिल्ली आने की जरूरत पड़े

 

फैसला बदलने पर विवाद नहीं

 

मुख्यमंत्री ने कहा कैबिनेट फैसला बदलने पर अब हमें विवाद में नहीं पड़ना है पुलिस टॉप मानव इतिहास में यह देश के सामने बहुत बड़ी विवाद है। इसमें हमें लड़ना नहीं है। राजनीति नहीं करनी है। मैं अपने सरकार के लोगों व पार्टी के लोगों से भी कहता हूं कि अब लड़ने की जरूरत नहीं है। हमें लड़ने की बजाय एकजुट होकर इस महामारी से लड़ना है।

 

अमित शाह से मिले मुख्यमंत्री

 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की बैठक में दिल्ली में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण और उससे निपटने के लिए तैयारियों पर चर्चा हुई मंत्री ने दिल्ली सरकार को सहयोग का भरोसा दिया

2 thoughts on “केंद्र एलजी की बात मानेंगे केजरीवाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *