चीन को चेतावनी अपने हद में रहे

NEWS

चीन को चेतावनी अपने हद में रहे

पूर्वी लद्दाख की बलवान घाटी पर चीन के संप्रभुता के दावे को भारत ने पूरी तरह खारिज कर दिया है। भारत ने कहा है, कि गलवान घाटी पर चीन ने अनुचित और बढ़ा चढ़ा कर दावा किया है .  दावा उस आपसी सहमति के विपरीत है जो दोनों देशों के बीच 6 जून को उच्च स्तरीय सैन्य वार्ता में बात बनी थी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने गुरुवार को सख्त लहजे में कहा कि चीन अपनी गतिविधियों को ऐसी के अपनी तरफ सीमित रखें और उनमें बदलाव के लिए कोई एक पक्षी कार्रवाई नहीं करें उन्होंने कहा कि संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता से कोई समझौता नहीं हो सकता है .

चाहे परिस्थितियां कुछ भी हो और सामने कोई भी हो उन्होंने कहा कि भारत मतभेदों के शांतिपूर्ण समाधान का पक्षधर रहा है लेकिन हालात के मुताबिक हर तरह की कार्रवाई को भी तैयार रहता है। उन्होंने कहा कि दोनों पक्ष अपने अपने दूतावासों तथा विदेश कार्यालयों के माध्यम से नियमित संपर्क में हैं और जमीनी स्तर पर भी संपर्क कायम रख रहे हैं.

इस बीच घाटी में समय स्थिति बल हाल करने के उद्देश्य से लगातार तीसरे दिन गुरुवार को भारत व चीन की सेनाओं में मेजर जनरल स्तर की वार्ता की जो  बेनतीजा ने कहा कि घाटी में झड़प में कोई भी भारतीय जवान लापता नहीं है . सूत्रों के मुताबिक लोह के अस्पताल में 18 और अन्य अस्पतालों में 58 सेना भर्ती हैं कोई भी जवान गंभीर नहीं है

राहुल के सवाल पर जय शंकर भोले निहत्थे नहीं थे हमारे जवान समझौते के कारण नहीं चलाई गोली

भारतीय सैनिकों को निहारता भेजे जाने को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी के सवाल पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने प्रतिक्रिया भी है। उन्होंने कहा कि चीन की सीमा की रक्षा कर रहे सभी भारतीय जवानों के पास हथियार होते हैं खासकर जब वे चौकी से बाहर निकलते हैं बलवान घाटी में भी एक भी भारतीय सैनिक ने नहीं था हर सैनिक के पास हथियार थे लेकिन समझौते के मुताबिक वह हथियार का इस्तेमाल नहीं किया जाना था और नहीं किया गया।

आर्थिक मोर्चे पर भी चीन को झटका बी एस एन एल के बाद रेलवे ने भी चीन की कंपनी का ठेका रद्द किया

तनाव के बाद भारत सरकार चीन की कंपनियों पर सख्त रुख दिखा रही है रेलवे ने कानपुर और मुगलसराय के बीच 117 किलोमीटर लंबी रेल खंड पर सिगनल व दूरसंचार के काम में धीमी प्रगति के कारण चीन की एक कंपनी का ठेका रद्द करने का निर्णय लिया है .

ईस्टर्न डेडीकेटेड फंड कॉरिडोर का काम रेलवे ने 2016 में बीजिंग नेशनल रेलवे रिसर्च एंड डिजाइन इंस्टीट्यूट को दिया था 471 करोड़ का है इससे पहले केंद्र ने बीएसएनएल से कहा था कि 4G को अपग्रेड करने के लिए चीनी उत्पाद का इस्तेमाल बंद करें

 रामविलास पासवान बोले चीन के उत्पाद का बहिष्कार करें

केंद्रीय खाद्य एवं उपभोक्ता मामले के मंत्री रामविलास पासवान ने गुरुवार को लोगों से चीन के उत्पाद का बहिष्कार करने की अपील की इसके साथ ही उन्होंने अपने मंत्रालय के अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे कार्यालय में दैनिक इस्तेमाल के लिए कोई भी चीज उत्पाद नहीं खरीदें कहा कि सरकार चीन से आयात किए गए उत्पादों पर गुणवत्ता नियमों को कड़ाई से लागू करें इसी बीच केंद्र मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि भारत को अब चीन पर निर्भर नहीं रहना चाहिए घरेलू विनिर्माण में तेजी लाने के लिए रिसर्च व इनोवेशन पर ध्यान देना चाहिए

48 thoughts on “चीन को चेतावनी अपने हद में रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *