पतंजलि से करोना की दवा पर ब्यौरा मांगा

NEWS

बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद की ओर से मंगलवार को लांच कोरोना की दवा कोरोनिल पर विवाद खड़ा हो गया है। आयुष मंत्रालय ने ब्यौरा तलब करते हुए कहा है कि जब तक तथ्यों की जांच पूरी नहीं होती प्रचार ना किया जाए।

मंत्रालय ने कहा कि उसने पतंजलि द्वारा कोरोना के निदान के लिए पेश की गई दवा को संज्ञान लिया है। इस दवा को लेकर किए जा रहे दावों के वैज्ञानिक तथ्यों से सरकार अनभिज्ञ है। कथित दवा औषधि एवं चमत्कारिक उपचार कानून |https://www.ndtv.com/india-news/ayush-ministers-reaction-to-ramdevs-patanjalis-covid-19-drug-claims-amid-coronavirus-pandemic-22513301954 के तहत विनियमित है।

उधर देर शाम आचार्य बालकृष्ण ने ट्वीट कर इसका जवाब दिया लिखा कि संवादहीनता दूर हो गई है। क्लीनिकल ट्रायल के सभी मानकों को पूरा किया गया है।http://www.aryandigitalseva.com/news/

इसकी सारी जानकारी हमने आयुष मंत्रालय को दे दी है | बता दें कि मंगलवार को रामदेव  बाबा ने प्रेस कॉन्फ्रें कर दावा किया था कि कोरोनिल से 3 दिनों में 69 फ़ीसदी और 4 दिनों में 100 फ़ीसदी मरीज ठीक हुए हैं। उन्होंने 100 मरीजों पर परीक्षण किए जाने की बात कही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *